Main haar Gaya Dil ke bazar me

Main haar Gaya Dil ke bazar me




हम अगर आप से मिल नही पाते , ऐसा नहीं के आप हमें याद नहीं आते , मन के जहां के सब रिश्ते निबाहये नहीं जाते , पर जो बस जाते हैं दिल में वो भुलाये नहीं जाते ।।


Main haar Gaya Dil ke bazar me
Main haar Gaya Dil ke bazar me


जीने के लिए तेरी याद ही काफि है , इस दिल में बस आप ही बाकी है । आप तो भूल गए हो हमे अपने दिल से , लेकिन हमे आज भी आपकी तलाश बाकी है ।

यूं बड़ी देर से पैमाना लिए बैठा हूँ , कोई देखे वो ये समझे पिए बैठा हूँ , ज़िन्दगी भर के लिए रूठ के जाने वाले , मैं अभी तक तस्वीर लिए बैठा हूँ ।


Main haar Gaya Dil ke bazar me
Main haar Gaya Dil ke bazar me


कोई रास्ता नही दुआ के सिवा , कोई सुणता नही खुदा के सिवा , मैंने भी ज़िन्दगी को करीब से देखा है मेरे दोस्त , मुस्किल में कोई साथ नही देता आंसू के शिव ।

दिन आते हैं दिन जाते हैं , कुछ लम्हे आप के बिन गुज़र नहीं पते हैं , इन्ही लम्हों को समेट के देखूं तो , आप बहुत याद आते हैं ।।


Main haar Gaya Dil ke bazar me
Main haar Gaya Dil ke bazar me


ऐसा भी क्या जीना मेरा , की पल पल तड़प ता हूँ मैं , किसी की याद में किसी के इंतज़ार में रोज़ जीता रोज़ मरता हूँ मैं ।

यादों की कीमत वो क्या जाने , जो खुद ही यादों को मिटा बैठे हैं । यादों की कीमत तो उनसे पूछो , जो यादों के सहारे जिंदगी बिता दिया करते हैं ।।


Main haar Gaya Dil ke bazar me

करोगे याद एक दिन साथ बीते ज़माने को , चले जाएंगे जिस दिन हम कभी वापस न आने को , करेगा महफ़िल में ज़िक्र हमारा कोई तो , चले जाओगे तन्हाइ में आंसू बहाने को ।।


दूरियां बहुत है पर इतना समझ लो , पास रहकर ही कोई रिश्ता खास नहीं होता , तुम दिल के पास इतने हो की , दूरियों का एहसास नहीं होता ।।


अपनी कमी कभी हमें होने नही देना , याद करे कोई तो आँख नम होने नही देना , तुम तो भुला ही दोगे हम को है यकीन , हम भुला दें तुमको , ये बद-दुआ न देना ।।

Post a Comment

0 Comments