Mere Dil Ke Lafz

Mere Dil Ke Lafz


मौत के बाद याद आ रहा है कोई , मिटटी मेरी क़बर से उठा रहा है कोई , ऐ खुदा दो पल की मोहलत और देदे , उदास मेरी क़बर से जा रहा है कोई ।।


Mere Dil Ke Lafz
Mere Dil Ke Lafz


ऐसे तो कोई तनहा नहीं होता , चाह कर कोई खुद किसी से जुड़ा नहीं होता , मोहब्बत को अक्सर मजबूरियाँ ही ले डूबती हैं , वरना केहने को तो कोई भी बेवफा नहीं होता ।।

आपको देख कर ये निगाह झुक जाएगी , ख़ामोशी हर बात कह जाएगी , पढ़ लेना इन आँखों में मेरी मोहब्बत को , आपकी कसम सारी कायनात वही रुक जाएगी ।।


Mere Dil Ke Lafz
Mere Dil Ke Lafz


फ़िज़ा पर तो असर हवाओं का होता है , मोहब्बत पर तो असर अदाओं का होता है , कोई ऐसे ही किसी का दीवाना नही होता , कुछ कसूर तो निग़ाहों का भी होता है ।।

तरसती निग़ाहों ने हर पल तेरा दीदार माँगा , जैसे अमावस ने हर रात चाँद को माँगा , रूठ गया उपरवाला भी मुझसे , जब मैंने मेरी हर दुआ में तेरा साथ माँगा ।।


Mere Dil Ke Lafz
Mere Dil Ke Lafz


हम तो सिर्फ आपकी बात किया करते हैं , हर धड़कन पे आपका नाम लिया करते हैं , आप हो हमें अपनी जान से भी प्यारे , तभी तो वक़्त-बे-वक़्त याद किया करते हैं ।।


अकसर जब हम उनको याद करते है , अपने रब से यही फर्याद करते है , उम्र हमारी भी लग जाये उनको , क्योकि हम उनको खुद से ज़्यादा प्यार करते है ।।


Mere Dil Ke Lafz
Mere Dil Ke Lafz


तुम्हे देखने को हम है तरस्ते , मिलने को तुमसे ढूँढ़ते हैं रस्ते , हमारी यह हसरत होगी क्या पूरी , तुम्हारे बिना ज़िन्दगी है अधूरी ।।


आज रोने को दिल करता है , सब भूल जाने को दिल करता है । ये दुनिया सताती है उसके नाम से , तभी तो नामोनिशा मिटने को दिल करता है ।।



Mere Dil Ke Lafz
Mere Dil Ke Lafz


खुदा किसी को किसी पे फ़िदा न करे , करे तो क़यामत तक जुड़ा न करे , यह मन की कोई मरता नही जुदाई में , लेकिन जी भी तो नही पता तन्हाइ में ।।


Post a Comment

0 Comments