Meri Sanso Me Tum Ho

Meri Sanso Me Tum Ho


एक अदा आपके दिल चुराने की , एक अदा आपके दिल में बस जाने की , चेहरा आपका चाँद सा , और एक ज़िद हमारी चाँद पाने की ।।

Meri Sanso Me Tum Ho
Meri Sanso Me Tum Ho


उनकी नज़रों में छुपा आज भी एक राज़ था , वही चेहरा वही लिबास था , कैसे यारों उनको बेवफा कहदूँ , आज भी उनके देखने का वही अंदाज़ था ।।


Meri Sanso Me Tum Ho
Meri Sanso Me Tum Ho


हमारा हर लम्हा चुरा लिया आपने , आँखों को इक चाँद दिखा दिया आपने । हमें ज़िन्दगी तो दी किसी और ने , पर प्यार इतना देकर जीना सिखा दिया आपने ।।

ये प्यारी निगाहें याद रहेंगी , मिलकर न मिलने की अदा याद रहेगी , मुमकिन नही की मैं तुम्हे भुला दूँ , और उम्र भर तुम्हे भी मेरी याद रहेगी ।।

Meri Sanso Me Tum Ho
Meri Sanso Me Tum Ho





इस से पहले की दिलो में नफ़रत जागे , आओ एक शाम मोहब्बत में बिता दी जाये । करके कुछ मोहब्बत की बातें , इस शाम की मस्ती बढा दी जाये ।।

Meri Sanso Me Tum Ho
Meri Sanso Me Tum Ho


दुआ करते हैं हम खुदा से , ए खुदा हमरा प्यार अपनी मंज़िल पाए , उसकी राहों में अँधेरा आये । तो रौशनी के लिए हमें जलाये ।।

चाहो तो दिल से मुझ को मिटा देना , चाहो तो मुझ को भुला देना , पर ये वादा करो के , कभी मेरी याद आये , रोना मत सिर्फ मुस्कुरा देना ।।

Meri Sanso Me Tum Ho
Meri Sanso Me Tum Ho


जिस दिल में तेरी चाहत थी , उस दिल को मैंने तोड़ दिया । बदनाम न तुझे होने दूंगा , इस लिए तेरा नाम ही लेना छोड़ दिया ।।


Post a Comment

0 Comments