Dil ko chhu Jane wali shayari

Dil ko chhu Jane wali shayari


हकीकत करो ब्यान तो मज़ाक लगता है , इबादत करो जब तो झूठा ख्वाब लगता है , अरे ये दिल है दिल , और दिल की है ये सदा , और तुम कहते हो की तुम्हे ये हसीं इत्तफाक लगता है ।।


Dil ko chhu Jane wali shayari
Dil ko chhu Jane wali shayari



ाखू की ज़ुबाँ वो समझ नही पाते , होंठ हैं मगर कुछ कह नही पाते , अपनी बेबसी किस तरह कहें , कोई है जिनके बिना हम रह नही पाते ।।

जब तन्हाई में आपकी याद आती है , होंठो पे एक ही फरियाद आती है , खुदा आपको हर खुशी दे , क्योंकि आज भी हमारी हर खुशिआपके बाद आती है ।।


Dil ko chhu Jane wali shayari
Dil ko chhu Jane wali shayari


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं , झुकी निगाह को इक़रार कहते हैं , सिर्फ पाने का नाम इश्क़ नहीं होता , कुछ खोने को भी प्यार कहते है ।।




Dil ko chhu Jane wali shayari
Dil ko chhu Jane wali shayari


बड़ी गहराई से चाहा है तुझे , बड़ी दुआओं से पया है तुझे , तुझे भुलाने की सोचूँ भी तो कैसे , किस्मत की लक़ीरों से चुराये है तुझे ।।

कुछ चेहरे भुलाए नहीं जाते , कुछ नाम दिल से मिटाये नहीं जाते , मुलाक़ात हो न हो , लेकिन ऐ यार । प्यार के चिराग़ कभी बुझाये नहीं जाते ।।


Dil ko chhu Jane wali shayari
Dil ko chhu Jane wali shayari


अपनी हर एक साँस तेरी ग़ुलाम कर राखी है , लोगों में ये ज़िन्दगी बद्नाम कर रक्खी है , आइना भी नही अब तो किसी काम का , हमने तो अपनी परछाई भी सनम तेरे नाम कर रक्खी है ।।


Dil ko chhu Jane wali shayari
Dil ko chhu Jane wali shayari


नज़र जब मिली तो फ़साने हुए , एक पल में हम आपके दीवाने हुए , जब से आए हैं आप हमारी ज़िन्दगी में , अंदाज़ ही हमारे कुछ शाइराना हुए ।।


Post a Comment

0 Comments